दिल्ली में राष्ट्रपति शासन? आतिशी ने कहा, ‘ऐसा हुआ तो ये जनादेश के खिलाफ’

0
19

चित्र : दिल्ली की मंत्री और ‘आप’ नेता आतिशी।

नई दिल्ली। दिल्ली की मंत्री और ‘आप’ नेता आतिशी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी राष्ट्रीय राजधानी में राष्ट्रपति शासन लगाने की साजिश रच रही है। मंत्री ने इसे अवैध और जनादेश के खिलाफ बताया है।

आतिशी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैं BJP को चेतावनी देना चाहती हूं कि दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाना गैरकानूनी, असंवैधानिक और दिल्ली की जनता के जनादेश के खिलाफ होगा। दिल्ली की जनता ने अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी को स्पष्ट जनादेश दिया है।’

उन्होंने अपना आरोप दोहराया कि अरविंद केजरीवाल को दिल्ली की आबकारी नीति में अनियमितताओं के फर्जी मामले में गिरफ्तार किया गया है, क्योंकि यह चुनी हुई सरकार को गिराने की साजिश है। मंत्री ने यह भी बताया कि पिछले कुछ महीनों में दिल्ली में किसी वरिष्ठ आईएएस अधिकारी की तैनाती नहीं की गई है। विभागों में पद रिक्त पड़े हैं, लेकिन कोई नियुक्ति नहीं की गई है। नौकरशाहों ने आदर्श आचार संहिता का हवाला देते हुए मंत्रियों द्वारा बुलाई गई बैठकों में भाग लेना बंद कर दिया है।

आतिशी ने कहा कि जब हम अतीत की कुछ चीजों को देखते हैं, तो पता चलता है कि एक सोची-समझी साजिश चल रही है। दिल्ली में कोई भी अधिकारी तैनात नहीं किया जा रहा है, दिल्ली के अंदर कोई भी ट्रांसफर पोस्टिंग नहीं हो रही है और चुनाव की घोषणा के बाद से अधिकारियों ने बैठकों में भाग लेना बंद कर दिया है। पिछले एक हफ्ते से एलजी गृह मंत्रालय को बेबुनियाद पत्र लिख रहे हैं और सीएम के निजी सचिव को भी हटा दिया गया है। यह सब दिखाता है कि दिल्ली सरकार को गिराने की साजिश चल रही है।

बता दें कि गुरुवार को आतिशी ने कहा था कि सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली के लोगों में काफी गुस्सा है और वे लोकसभा चुनावों में BJP को करारा जवाब देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here