महाकाल मंदिर में क्यों हुआ हादसा? PM नरेंद्र मोदी ने बताया ‘बेहद दर्दनाक’

0
21

चित्र सौजन्य : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.मोहन यादव घायलों से मिलते हुए।

उज्जैन। सोमवार सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर के गर्भगृह में आग लग गई, जिसमें 13 पुजारी घायल हो गए। यह हादसा भस्म आरती के दौरान हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह हादसा ‘बेहद दर्दनाक’ है।

उन्होंने कहा कि उज्जैन के महाकाल मंदिर में हुआ हादसा बेहद दुखद है। मैं इस हादसे में घायल हुए सभी श्रद्धालुओं के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार की निगरानी में स्थानीय प्रशासन पीड़ितों की हरसंभव मदद में जुटा हुआ है।

तो वहीं, उज्जैन कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं। उन्होंने समाचार एजेंसी को एएनआई को बताया कि तेरह पुजारी झुलस गए हैं और उनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, होली के जश्न के दौरान गर्भगृह में गुलाल फेंका जा रहा था। किसी ने मिट्टी के दीये पर रंग-बिरंगा गुलाल फेंक दिया। उनका मानना ​​है कि गुलाल में मौजूद रसायनों के कारण आग लगी होगी। घायलों में, भस्म आरती के मुख्य पुजारी संजय गुरु भी शामिल हैं।

नौ लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें इंदौर रेफर किया गया है। केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि स्थानीय प्रशासन घायलों को उपचार मुहैया करा रहा है।

मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव ने सोशल मीडिया वेबसाइट एक्स पर लिखा…

मध्य प्रदेश सरकार ने सोमवार को उज्जैन के महाकाल मंदिर में लगी आग में घायल हुए प्रत्येक व्यक्ति को एक-एक लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर शोक व्यक्त किया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

बता दें कि सोमवार की सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर के गर्भगृह में आग लगने से पुजारियों समेत 14 लोग घायल हो गए। अधिकारियों के अनुसार, यह घटना सुबह करीब 5.50 बजे हुई, जब मंदिर में भस्म आरती की जा रही थी। अधिकारियों ने कहा कि गर्भगृह के अंदर फेंका गया गुलाल (रंगीन पाउडर) पूजा की थाली में जलते कपूर पर गिर गया और गुलाल में मौजूद रसायनों के कारण आग लग गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here