ताइवान में 25 साल बाद आया शक्तिशाली भूकंप, हर जगह अफरा-तफरी

0
31

चित्र : हुलियन में एक पांच मंजिला इमारत भूकंप के कारण पहली मंजिल तक आंशिक रूप से झुक गई।

संक्षेप में…

  • 7.4 तीव्रता का भूकंप, जापान में सुनामी आई।
  • इमारतें आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त।
  • ताइवान में रेल सेवाएं स्थगित।
  • भूकंप का केंद्र ताइवान का हुलियन शहर के पास।

ताइवान। बुधवार को आए भूकंप ने ताइवान की जिंदगी की तहस-नहस कर दिया। भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.4 बताई जा रही है। भूकंप में लगभग चार लोगों की मौत हो गई (यह संख्या बड़ भी सकती है।) इसके साथ ही यहां कई लोग घायल हो गए। अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक इस देश में 25 साल में ये सबसे बड़ा भूकंप दर्ज किया गया है।

भूकंप के बाद जापान के योनागुनी द्वीप में सुनामी भी आई। 25 साल बाद, ताइवान में आया ये सबसे शक्तिशाली भूकंप है। बता दें, इससे पहले 1999 में देश के नान्टो काउंटी में 7.2 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसमें 2,500 से अधिक लोग मारे गए थे और 1,300 से अधिक लोग घायल हुए थे।

एसोसिएटेड प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय अग्निशमन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि भूकंप के केंद्र रहे हुलिएन काउंटी में चार लोगों की मौत हो गई। तो वहीं, रॉयटर्स समाचार एजेंसी के अनुसार, हुलियन में चट्टानें गिरने से 50 से अधिक लोग घायल हो गए।

भूकंप का केंद्र हुलिएन काउंटी

भूकंप से हुलिएन में इमारतें भी क्षतिग्रस्त हो गईं, जबकि ताइवान में ट्रेन सेवाएं स्थगित कर दी गईं। स्कूलों और सरकारी दफ्तरों की कक्षाएं रद्द कर दी गईं। अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने कहा कि भूकंप की तीव्रता 7.4 थी, जबकि ताइवान की भूकंप निगरानी एजेंसी ने कहा कि रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 7.2 मापी गई।

कब आया भूकंप

भूकंप सुबह 7.58 बजे हुलियन से लगभग 18 किमी दक्षिण-दक्षिणपश्चिम में आया और इसकी गहराई लगभग 35 किमी थी। यूएसजीएस ने कहा कि ताइपे में कई झटके महसूस किए गए, जिनमें से एक की तीव्रता 6.5 थी और गहराई लगभग 11.8 किमी थी। हुलियन में एक पांच मंजिला इमारत पहली मंजिल तक आंशिक रूप से झुक गई।

झुकी हुई इमारत के वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आए हैं। इस बीच, ताइवान में रेल सेवाएं भी स्थगित कर दी गईं और राजधानी ताइपे में इमारतों से टाइल्स गिरने की खबरें आईं। भूकंप के कारण भूस्खलन भी हुआ, जिसका फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। जापान में, अधिकारियों ने कहा कि ताइवान में भूकंप आने के लगभग 15 मिनट बाद योनागुनी द्वीप पर लगभग 1 फुट ऊंची सुनामी लहर देखी गई।

जापान में सुनामी

जापान मौसम विज्ञान एजेंसी (जेएमए) ने बीते दिनों ओकिनावा प्रान्त के तटीय क्षेत्रों के निवासियों के लिए सुनामी की चेतावनी जारी की थी, और बताया था कि देश के दक्षिण-पश्चिमी तट तक 3 मीटर तक की सुनामी लहरें पहुंचने की आशंका है। जेएमए के अनुसार, ओकिनावा में 26 वर्षों में यह पहली सुनामी चेतावनी थी, पिछली चेतावनी 1998 में जारी की गई थी, जब इशिगाकी द्वीप के दक्षिण में 7.7 तीव्रता का भूकंप आया था, लेकिन बाद में एजेंसी ने चेतावनी को परामर्श में बदल दिया।

जापान की आत्मरक्षा सेना ने सुनामी के प्रभाव की निगरानी के लिए विमान भेजे हैं तथा बचाव शिविर भी तैयार कर रही है। देश की प्रमुख एयरलाइन जापान एयरलाइंस ने ओकिनावा और कागोशिमा क्षेत्रों से सभी उड़ानें निलंबित कर दी हैं। उन उड़ानों का मार्ग बदल दिया है जो उन क्षेत्रों की ओर जा रही थीं जहां सुनामी संबंधी चेतावनी जारी की गई है।

इस बीच,

भूकंप के बाद, ताइवान में रहने वाले सभी भारतीय नागरिकों की सहायता, मार्गदर्शन या स्पष्टीकरण के लिए इंडिया ताइपे एसोसिएशन द्वारा ये एडवाइजरी जारी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here