चंद्रयान 4 : ISRO प्रमुख ने कहा, साल 2040 में लांच होगा चंद्र मिशन!

0
14

चित्र : ISRO प्रमुख सोमनाथ।

बेंगलुरू। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के ISRO प्रमुख सोमनाथ ने बुधवार को कहा कि चंद्रयान परियोजना का आगामी चरण प्रगति पर है, जिसका उद्देश्य भारत के चंद्र अन्वेषण प्रयासों को आगे बढ़ाना है। उन्होंने संकेत दिया कि चंद्रयान-4, 2040 तक चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्री उतारने की कोशिश की जा रही है।

मीडिया से जानकारी साझा करते हुएसोमनाथ ने कहा कि चंद्रयान-4 एक अवधारणा है जिसे हम अब चंद्रयान श्रृंखला की अगली कड़ी के रूप में विकसित कर रहे हैं… हमारे माननीय प्रधानमंत्री ने घोषणा की है कि 2040 में एक भारतीय चंद्रमा पर उतरेगा। इसलिए, यदि ऐसा होना है, तो हमें विभिन्न प्रकार के चंद्रमा अन्वेषण जारी रखने होंगे।

उन्होंने कहा कि चंद्रयान-4 इस दिशा में पहला कदम है। चांद पर यान उतारना, नमूना एकत्र करना और उसे वापस धरती पर लाना। यह चांद पर जाने और धरती पर वापस आने के पूरे चक्र को दर्शाता है। भारत ने 23 अगस्त को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर चंद्रयान-3 के लैंडर मॉड्यूल की सफल लैंडिंग के साथ अंतरिक्ष अन्वेषण में महत्वपूर्ण प्रगति की, जो एक ऐतिहासिक उपलब्धि है, क्योंकि यह उपलब्धि हासिल करने वाला वह पहला देश बन गया है।

इससे पहले जनवरी में भारत ने अपना पहला समर्पित सौर मिशन, आदित्य-एल1 अंतरिक्ष यान प्रक्षेपित किया था, तथा इसे सूर्य के चारों ओर हेलो कक्षा में स्थापित किया था। इसके अलावा, गगनयान परियोजना भारत के लिए एक और महत्वपूर्ण प्रयास है, जिसका उद्देश्य तीन सदस्यों के दल को तीन दिवसीय मिशन के लिए 400 किलोमीटर की कक्षा में भेजकर मानव अंतरिक्ष उड़ान क्षमता का प्रदर्शन करना है, तथा उन्हें भारतीय जल में उतारकर सुरक्षित रूप से पृथ्वी पर वापस लाना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here