ईरान-इज़राइल युद्ध : UN महासचिव ने की अपील, ब्रिटेन और अमेरिका दे रहे ‘इज़राइल का साथ’

0
64

चित्र सौजन्य (सोशल मीडिया) : ईरान-इज़राइल युद्ध।

येरूशलम। ईरान ने शनिवार को इज़रायल पर मिसाइल और ड्रोन अटैक किए हैं। ईरान ने करीब 200 से ज्यादा अलग-अलग तरह के ड्रोन हमले किए, इनमें किलर ड्रोन से लेकर बैलिस्टिक मिसाइल और क्रूज मिसाइलें शामिल हैं। येरूशलम सहित इज़रायल के कई शहरों में धमाकों और और सायरन की आवाज सुनी जा रही है। पूरे देश की किलाबंदी कर दी गई है। इज़रायली सेना ने एयर डिफेंस सिस्टम को एक्टिवेट कर दिया है।

सीरिया में ईरान के वाणिज्य दूतावास पर हमले के बाद इसे उसकी जवाबी कार्रवाई बताया जा रहा है। दोनों प्रमुख विरोधी देशों के बीच सालों से छद्म युद्ध चल रहा है लेकिन ये पहली बार आमने-सामने की लड़ाई है।

वहीं इज़राइली सेना का कहना है कि इज़राइल और अन्य देशों ने 300 से ज्यादा क्रूज मिसाइलों और ड्रोन्स को इंटरसेप्ट किया है, जिसमें से अधिकतर इसराइली एयरस्पेस से बाहर हैं। इज़राइल इंटेलिजेंस एजेंसी मोसाद ने कहा कि हमास ने मध्यस्थों के ताज़ा प्लान को रिजेक्ट कर दिया है। एजेंसी ने कहा है कि ‘इस बात से मालूम चलता है कि ग़ज़ा में हमास के नेता याह्या सिनवार मानवीय आधार पर डील नहीं चाहते हैं और उनकी मंशा अगवा किए गए बंधकों को लौटाने की नहीं है।

हमास ईरान के साथ मिलकर तनाव बढ़ा रहा है, लेकिन इज़राइल पूरी फोर्स के साथ अपने इरादे पर टिका हुआ है और 133 बंधकों की रिहाई के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगा। इज़राइल के रक्षा मंत्री योआव गैलांट ने कहा है कि इसराइल के सुरक्षा क्षेत्र के लिए वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पूरी स्थिति का आकलन कर लिया गया है।

रविवार सुबह ईरान की ओर से इज़राइल पर मिसाइल और ड्रोन गिराए गए। अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडन ने दावा किया है कि अमेरिका की मदद से इज़राइल ‘लगभग सभी ड्रोन’ और मिसाइल मार गिराने में कामयाब रहा है। बाइडन ने कहा कि हमारी फोर्स के सैनिकों का शुक्रिया। हमने ईरान की ओर से दागे गए सभी मिसाइल और ड्रोन को मार गिराने में इज़राइल की मदद की है।

इस बीच ब्रिटेन ने कहा कि उसकी रॉयल एयर फोर्स (आरएएफ) जरूरत के मुताबिक ड्रोनों को रोकेगी। अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक जो बाइडन और ऋषि सुनक ने इज़राइल का साथ देने की बात कही है।

तो वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि ईरान के इजरायल पर हमलों का तेजी से बढ़ना बेहद दुख की बात है और उन्होंने कहा कि देश और दुनिया अब और एक युद्ध बर्दाश्त नहीं कर सकता है, साथ ही महासचिव गुटेरस ने दोनों देशों से युद्ध तुरंत खत्म करने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here