जर्मनी, अमेरिका और अब UN ने दिया’, दिल्ली CM की गिरफ्तारी पर बयान

0
59

चित्र : संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनी गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक।

न्यूयार्क। भारत की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के समर्थन में अब संयुक्त राष्ट्र (UN) ने टिप्पणी की है। संयुक्त राष्ट्र की ये टिप्पणी पहले जर्मनी और बाद में अमेरिका के बाद आई है। टिप्पणी में कहा गया है कि दुनिया को उम्मीद है कि हर कोई स्वतंत्र और निष्पक्ष माहौल में भारत के संसदीय चुनावों में वोट कर सकेगा।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनी गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफ़न दुजारिक ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ़्तारी और कांग्रेस पार्टी के बैंक खातों को फ्रीज करने को लेकर सवाल पूछा गया था। इसके जवाब में एंटोनी गुटेरेस के प्रवक्ता ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि दूसरे किसी भी देश की तरह जहां चुनाव हो रहा है, भारत में भी राजनीतिक और नागरिक अधिकारों के साथ-साथ सभी लोगों के हितों की रक्षा होनी चाहिए।

बता दें भारत के प्रवर्तन निदेशालय ने अरविंद केजरीवाल को दिल्ली की आबकारी नीति में हुए कथित घोटाले से जुड़े केस में 21 मार्च को गिरफ़्तार किया था। तो वहीं, भारत के पूर्व विदेश सचिवकंवल सिब्बल ने अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी से संबंधित यूएन की टिप्पणी को सुनियोजित बताया है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर उन्होंने लिखा कि क्या केजरीवाल को मिल रहा यह बाहरी समर्थन कुछ कहता है? संयुक्त राष्ट्र चार्टर सदस्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप पर रोक लगाता है, लेकिन यूएनएसजी का ऑफिस खुद इसका उल्लंघन कर रहा है। यूएन किसी भी मामले में अपनी सारी विश्वसनीयता खो चुका है।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था, ‘कल भारत ने अमेरिकी दूतावास के एक सीनियर अधिकारी के सामने इसे लेकर कड़ी आपत्ति और विरोध दर्ज कराया था। हाल में दिया गया बयान अवांछित था। भारत में, क़ानूनी प्रक्रिया क़ानून के शासन से चलती है।’

जर्मनी का रुख़ पड़ा नरम

इससे पहले जर्मनी ने भी अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के लिए निष्पक्ष सुनवाई की अपील की थी। बाद में भारत ने जर्मन दूतावास के उप प्रमुख जॉर्ज एन्जवीलर को तलब कर अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here