कश्मीर पर PM मोदी का बड़ा ऐलान, मिलेगा ‘राज्य’ का दर्जा?

0
20

चित्र : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।

उधमपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार, 12 अप्रैल को घोषणा की कि जम्मू-कश्मीर में राज्य का दर्जा बहाल करने के साथ ही जल्द ही विधानसभा चुनाव भी कराए जाएंगे। यह घोषणा आगामी लोकसभा चुनावों से पहले की गई है, जो 19 अप्रैल से शुरू होने वाले हैं।

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वह नए जम्मू-कश्मीर की एक अद्भुत तस्वीर की कल्पना करते हैं। इसलिए अब तक जो हुआ है, वह तो बस ट्रेलर है। मुझे नए जम्मू-कश्मीर की नई और शानदार तस्वीर बनाने में जुट जाना है। वह समय दूर नहीं जब जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव होंगे। जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा मिलेगा। आप अपने सपने अपने विधायकों और मंत्रियों के साथ साझा कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद, हड़ताल, पत्थरबाजी और सीमा पार गोलीबारी के भय के बिना होंगे। दशकों बाद यह चुनाव आतंकवाद, अलगाववाद, पत्थरबाजी, हड़ताल और सीमा पार आतंकवाद के डर के बिना हो रहा है, जो अब चुनावी मुद्दे नहीं रह गए हैं। वैष्णो देवी और अमरनाथ तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को लेकर चिंता होती थी, लेकिन (सुरक्षा) स्थिति पूरी तरह बदल गई है। जम्मू-कश्मीर में विकास हो रहा है और लोगों का सरकार पर भरोसा मजबूत हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और भारत गठबंधन की भी आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें देश के बहुसंख्यक लोगों की भावनाओं की परवाह नहीं है और उन्हें केवल भावनाओं के साथ खेलने में मजा आता है।

उधमपुर रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जमानत पर रिहा हुए लोगों की आलोचना करते हुए कहा कि वे सजायाफ्ता अपराधियों के घर जाते हैं, सावन के दौरान मटन पकाते हैं और वीडियो साझा करते हुए अपने कार्यों की तुलना मंदिरों के प्रति मुगल आक्रमण से करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा एक व्यक्ति जिसे कोर्ट से सजा हो चुकी है और जो जमानत पर है, ऐसे अपराधी के घर जाकर सावन के महीने में मटन पकाते हैं और उसका वीडियो बनाकर देश के लोगों को चिढ़ाते हैं। कानून किसी को कुछ भी खाने से नहीं रोकता है, लेकिन इन लोगों के इरादे कुछ और हैं। जब मुगलों ने यहां हमला किया, तो मंदिरों को तोड़ने तक उनका मन नहीं भरा। इसलिए मुगलों की तरह ही वे सावन के महीने में वीडियो दिखाकर देश के लोगों को चिढ़ाना चाहते हैं।

कांग्रेस के इस दावे को नकारते हुए कि राम मंदिर बीजेपी के लिए चुनावी मुद्दा है, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह कभी चुनावी मुद्दा नहीं रहा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए संघर्ष बीजेपी के जन्म से पहले से चल रहा था। जब विदेशी आक्रमणकारियों ने हमारे मंदिरों को नष्ट किया, तो भारत के लोगों ने अपने धार्मिक स्थलों को बचाने के लिए लड़ाई लड़ी। कांग्रेस और उसके सहयोगी दल के नेता बड़े-बड़े बंगलों में रहते थे, लेकिन जब रामलला के टेंट को बदलने की बात आती थी, तो वे मुंह मोड़ लेते थे।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा चुनाव पांच चरणों में होंगे। लोकसभा चुनाव 2024 में पांच चरणों में जिन पांच लोकसभा सीटों पर मतदान होगा, वे हैं: बारामूला, श्रीनगर, अनंतनाग-राजौरी, उधमपुर और जम्मू में होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here