दिल्ली CM की पत्नी ने शुरू किया ‘केजरीवाल को आशीर्वाद’ कैंपेन, क्या है वजह

0
17

चित्र : दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल।

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने कहा है कि उन्होंने (अरविंद केजरीवाल) जो कुछ कोर्ट के सामने बोला उसके लिए बहुत हिम्मत चाहिए। पिछले 30 साल से मैं उनके साथ हूं। देशभक्ति उनके रोम-रोम में बसी है। यह बात उन्होंने शुक्रवार को एक प्रेस रिलीज जारी कर कही।

उन्होंने कहा कि आपने अरविंद केजरीवाल को अपना भाई, अपना बेटा कहा है। क्या इस लड़ाई में आप अपने भाई, अपने बेटे का साथ नहीं देंगे? मैं आपको एक व्हाट्सएप नंबर (8297324624) दे रही हूं। हम एक अभियान शुरू कर रहे हैं जिसका नाम है ‘केजरीवाल को आशीर्वाद’। इस व्हाट्सएप नंबर पर आप अपने अरविंद को आशीर्वाद भेज सकते हैं। आपका एक-एक मैसेज उन तक पहुंचेगा।

दिल्ली सरकार के मंत्री और AAP नेता गोपाल राय ने कहा कि ‘बिना किसी सबूत के तानाशाही रवैया अपनाते हुए, बदले की भावना से अरविंद केजरीवाल को गिरफ़्तार किया गया है। पूरे देश में इसका विरोध हो रहा है। 31 मार्च को रामलीला मैदान में INDIA गठबंधन की महा रैली आयोजित हो रही है। पूरे देश से INDIA गठबंधन के शीर्ष नेता इसमें पहुंच रहे हैं। हम दिल्ली के सभी लोगों से घर-घर जाकर अपील कर रहे हैं कि आप सब 31 मार्च को रामलीला मैदान पहुंचें।’

इस बीच, AAP नेता और दिल्ली सरकार में मंत्री अतिशी ने कहा, ‘राउज एवेन्यू कोर्ट में जब कल अरविंद केजरीवाल की रिमांड पर बहस चल रही थी तो ED के वकील एड‍िशनल सॉल‍िस‍िटर जनरल राजू ने अनजाने में ED के असली धेय को कोर्ट और दुनिया के सामने रख दिया।

उन्होंने कोर्ट में कहा कि हमें अरविंद केजरीवाल को कुछ दिन और हिरासत में रखने की जरूरत है क्योंकि उन्होंने हमें अपने फोन का पासवर्ड नहीं बताया है। यह वही ED है जिसने कहा था कि शराब नीति के निर्माण और कार्यान्वयन के समय अरविंद केजरीवाल ने जिस फोन का इस्तेमाल किया था वह उन्हें नहीं मिला। यह ED नहीं बल्कि भाजपा पासवर्ड चाहती है।’

बता दें कि पिछले दिनों ED सूत्रों के हवाले से ख़बर आई थी कि ‘शराब घोटाले के समय का केजरीवाल का फ़ोन गायब है।’ आम आदमी पार्टी ने इस पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि ED क्या पॉलीटिकल पार्टी है जो सूत्रों से खबरें चलवा रही है? अगर ED को कुछ कहना है तो कोर्ट के सामने कहे, तब ED ने कोर्ट के सामने ये तो नहीं कहा कि केजरीवाल का उस समय का फ़ोन गायब है

बल्कि ED ने अदालत के सामने यह कहा कि अरविंद केजरीवाल डिजिटल डिवाइस का पासवर्ड नहीं दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने अब ED के इस On Record Off Record को मुद्दा बना लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here