गैंगस्टर मुख्तार अंसारी की मौत, भाई ने लगाया धीमा जहर का देने का आरोप

0
11

चित्र : मुख्तार अंसारी।

लखनऊ। गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी की गुरुवार देर शाम उत्तर प्रदेश के एक अस्पताल में हार्ट-अटैक से मौत हो गई। रात करीब 8.45 बजे जिला जेल में बेहोश होकर गिर जाने के बाद अंसारी को बांदा के अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

मुख्तार अंसारी, 2005 से पंजाब और उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद थे। उनके परिवार ने आरोप लगाया है कि उन्हें जेल में जहर दिया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके भाई अफजाल अंसारी ने कहा कि मुख्तार ने कहा था कि जेल में उन्हें खाने में जहरीला पदार्थ दिया गया। ऐसा दूसरी बार हुआ। करीब 40 दिन पहले भी उन्हें जहर दिया गया था। और हाल ही में 19 मार्च को उन्हें फिर से यह (जहर) दिया गया, जिससे उनकी हालत खराब हो गई।

बेटे ने कहा, खाने में दिया गया जहर

मुख्तार अंसारी के बेटे उमर ने भी आरोप लगाया कि उनके पिता को खाने में जहर दिया गया था और कहा कि वह अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। हमने पहले भी यही कहा है और आज भी हम यही कहेंगे। 19 मार्च को उन्हें खाने में जहर दिया गया था। हम न्यायपालिका का रुख करेंगे, हमें उस पर पूरा भरोसा है।

मुख्तार अंसारी पर दर्ज चर्चित केस

  • गाजीपुर में बीजेपी एमएलए कृष्णानंद राय की हत्या।
  • मन्ना हत्याकांड के गवाह रामचंद्र मौर्य की हत्या।
  • फर्जी तरीके से शस्त्र लाइसेंस लेने का केस।
  • कांग्रेस के नेता अजय राय के भाई अवधेश राय की हत्या।
  • मऊ में ए श्रेणी के बॉडी गार्ड सिपाही सतीश की हत्या।
  • 1996 में गाजीपुर में एएसपी शंकर जायसवाल पर जानलेवा हमला।
  • 1997 में कोयला करोबारी रूंगटा को अवगा करने का आरोप।

खबरों में यह भी चर्चा है कि मुख्तार अंसारी के वकील ने इस महीने की शुरुआत में अदालत में आरोप लगाया था कि बांदा जेल में उनकी जान को खतरा है और उन्हें खाने के साथ कोई जहरीला पदार्थ खिलाया गया था। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती समेत कई राजनेताओं ने खूंखार गैंगस्टर के परिवार के आरोपों की जांच की मांग की है।

यूपी पुलिस ने कई शहरों में बड़ाई सुरक्षा

उनकी मृत्यु के बाद अस्पताल के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई तथा कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरे राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई। अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के बांदा, मऊ, गाजीपुर और वाराणसी जिलों में भी विशेष सुरक्षा बल तैनात किया गया है, जहां अंसारी कथित तौर पर आपराधिक गिरोह के जरिए प्रभाव रखता है।

पप्पू यादव ने लिखा X पर दिया विवादित बयान

बिहार के नेता पप्पू यादव ने मुख्तार की मौत को सांस्थानिक हत्या बताया है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट किया कि…

बता दें कि 30 जून 1963 को उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में जन्मे अंसारी ने अपराध की दुनिया में कम उम्र में ही कदम रख दिया था। उस पर पहली बार गाजीपुर के सैदपुर पुलिस स्टेशन में आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया था, जब वह सिर्फ 15 साल का था।

यह भी पढ़ें : ‘अपराध से राजनीति तक’ कैसा था मुख्तार अंसारी का सफर, विस्तार से जानें

30 जून 1963 को उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में जन्मे अंसारी ने अपराध की दुनिया में कम उम्र में ही कदम रख दिया था। उस पर पहली बार गाजीपुर के सैदपुर पुलिस स्टेशन में आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया था, जब वह सिर्फ 15 साल का था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here