अखिलेश यादव और खेसारी लाल यादव की मुलाकात, क्या है सियासी मायने

0
70

गुरुवार को अखिलेश ने मुलाकात की तस्‍वीर अपने सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर किया है। साथ ही उन्‍होंने लिखा है- ‘कला और कलाकारों का साथ सृजनात्मकता और सकारात्मकता दोनों को बढ़ाता है।’ अखिलेश के इस पोस्‍ट को खेसारी लाल यादव ने भी शेयर किया है। साथ ही उनका आभार भी जताया है।खेसारी लाल यादव ने X पर लिखा है- ‘यह सुखद भेट हमेशा जहन में रहेगा। यह मुलाकात एक कलाकार और नेता की नहीं बल्कि दो भाइयों की थी, ऐसा मैंने आज महसूस किया। इतने व्यस्तता में भी मुझे समय देने और एक बड़े भाई के समान दुलार करने के लिए दिल से प्रणाम और धन्यवाद। मेरी बस यही प्रार्थना है कि आपको मिला ये जनाधार ऐसे ही बरकरार रहे और कलाकारों के प्रति जो स्नेह व सम्मान आपके दिल में है, उसके लिए भी मैं हृदय के गहराइयों से आभार व्यक्त करता हूं

खेसारी लाल यादव ने X पर लिखा है- ‘यह सुखद भेट हमेशा जहन में रहेगा। यह मुलाकात एक कलाकार और नेता की नहीं बल्कि दो भाइयों की थी, ऐसा आज मैंने महसूस किया। इतने व्यस्तता में भी मुझे समय देने और एक बड़े भाई के समान देने के लिए दिल से प्रणाम और धन्यवाद। मेरी बस यही प्रार्थना है कि आपको मिला ये जनाधार ऐसे ही बरकरार रहे और कलाकारों के प्रति जो प्यार व सम्मान आपके दिल में है, उसके लिए भी मैं हृदय के गहराइयों से आभार व्यक्त करता हूं

लोकसभा चुनाव में इस बार सपा को 37 सीटों पर मिली जीत
गौरतलब है कि अखिलेश यादव की पार्टी सपा ने इस बार लोकसभा चुनावों में 37 सीटें जीतकर बड़ी सफलता हासिल की। 2014 और 2019 लोकसभा चुनावों में लगातार आगे रही बीजेपी मात्र 33 सीटों पर सिमट गई है। सपा बीजेपी और कांग्रेस के बाद अब पूरे देश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है सपा । राजनीतिक जानकारों को माने तो सपा को उसकी पीडीए पॉलिटिक्‍स का फायदा मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here