टाइटेनिक जहाज के मलबे को दिखाने ले जा रही टाइटेनिक पनडुब्बी जानें कैसे डूबी

टाइटैनिक जहाज़ के डूबने की कहानी हर कोई जानता है । 112 साल पहले एक विशालकाय जहाज़ समंदर में समा गया था। इस हादसे में करीब 1500 लोग मारे गए थे। 1912 में 14-15 अप्रैल की दरमियानी रात अटलांटिक महासागर में यह जहाज़ एक आईसबर्ग यानी हिमखंड से टकराया था और डूब गया था ।

ALSO READ Bhopal : MP में चुनाव से पहले दलबदल, पूर्व MLA ने थामा कांग्रेस का हाथ

कनाडा के समुद्री क्षेत्र में इस जहाज़ के मलबे अब भी मौजूद हैं। यह ऐसा हादसा था, जिसे भूल पाना मुश्किल है। अब इसी हादसे से जुड़ा एक और वाकया हुआ है टाइटेनिक जहाज के मलबे को दिखाने ले जा रही टाइटेनिक पनडुब्बी डूब गयी है ,इस टाइटेनिक पनडुब्बी में 5 अरबपति सवार थे जो अब इस दुनिया में रहे ,पिछले कई दिनों से कई देश उस पनडुब्बी को ढूढ़ने में लगे हुए थे ,आइये अब हम आपको बताते है कि टाइटेनिक के मलबे को दिखाने को ले जाने वाली पनडुब्बी कैसे डूबी और उस पनडुब्बी में दुनिया के वो कौन से राईस लोग थे जो टाइटेनिक के मलबे का दीदार करने गए थे।

बीते 18 जून को ओशनगेट की एक पनडुब्बी ‘टाइटन’ टाइटैनिक के सफर पर निकली। इसे जाना था कनाडा के न्यूफ़ाउंडलैंड में सेंट जॉन्स के दक्षिण में 700 किलोमीटर दूर, जहां डूबे हुए जहाज़ टाइटैनिक का मलबा देखने। सफर पर निकली इस पनडुब्बी का संपर्क महज एक घंटे 45 मिनट में ही समुद्र के ऊपर मौजूद उसके जहाज, पोलर प्रिंस से टूट गया था और तभी से इसकी तलाश चल रही थी। कई देश इस सर्च ऑपरेशन में जुटे थे, लेकिन गुरुवार देर रात तक साफ़ हो गया कि जीवन की कोई उम्मीद करना बेकार है। पनडुब्बी डूब चुकी है। उसमें सवार पांच लोग अब इस दुनिया में नहीं रहे।

टाइटन पनडुब्बी में सवार सभी पांच लोग जाने-माने अरबपति थे। इसमें ओशनगेट के सीईओ स्टॉकटन रश, पाकिस्तान मूल के अरबपति शहजादा दाऊद और उनके बेटे सुलेमान दाऊद, हामिश हार्डिंग और पॉल-हेनरी नार्जियोलेट शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *