सुभासपा और निषाद पार्टी की मुश्किलें बढ़ी, बेदीराम और विपुल दुबे पर गैर ज़मानती वारंट जारी

0
41

पेपर लीक और भर्ती घोटाले मामले में सुभासपा और निषाद पार्टी की मुश्किलें अब खत्म होने नाम ही नही ले रही है। आज दोनों पार्टी के विधायकों बेदीराम और विपुल दुबे के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर गिरफ्तारी के आदेश जारी कर दिया गया है। बेदीराम और विपुल दुबे को 26 जुलाई तक कोर्ट में पेश होने का भी आदेश है।
इस मामले में इनके अलावा 18 अन्य आरोपियों के खिलाफ भी मुकदमा चल रहा हैं। दोनों ही बीजेपी के सहयोगी दल के विधायक है। स्पेशल जज पुष्कर उपाध्याय ने दोनों विधायकों के अलावा अन्य 18 पर भी कोर्ट में हाजिर न होने पर वारंट जारी कर दिया गया है।

2006 में STF ने की थी गिरफ्तारी: रेलवे भर्ती बोर्ड मामले में STF ने बेदीराम और विपुल दुबे को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के समय दोनों के पास रेलवे ग्रुप डी परीक्षा के प्रश्नपत्र मिले। जांच के बाद पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की। कोर्ट ने दोनों की हाजिरी माफी की अर्जी को भी खारिज कर दिया। बेदीराम पर 3 राज्यों में कुल 9 मामले दर्ज है। गैंगस्टर भी लग चुका है। पेपर लीक मामले में तिहाड़ जेल की हवा भी खा चुके है। बेदीराम ने साल 2022 में सुभासपा के टिकट पर गाजीपुर की जखनियां विधानसभा से चुनाव लड़े और जीते वही विपुल दुबे निषाद पार्टी से जो भदोही के ज्ञानपुर से विधायक है।

ओपी राजभर का करीबी है बेदीराम: बेदीराम सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर का बेहद करीबी हैं। ओपी राजभर की फंडिंग भी बेदीराम मैनेज करता है। बेदीराम पर ओम प्रकाश राजभर हर तरफ से घिर चुके है। चारो ओर उनकी थू थू हो रही हैं। हालात ये है कि राजभर का बड़बोलापन अब विस्मृत हो चला है।

वीडियो वायरल होने के बाद मामले ने पकड़ा तूल: कैबिनेट मंत्री ओपीराजभर के खास बेदीराम का 26 जून को एक वीडियो वायरल हुआ। इस वीडियो में विधायक कई लोगो की नौकरी लगवाने के दावा करते नजर आए। वीडियो एक अभ्यर्थी ने बनाया था जिसने नौकरी के बदले बेदीराम को पैसे हड़पने के आरोप लगाए है। बेदीराम का नाम पेपर लीक में 24 साल से आ रहा है लेकिन अपने राजनीतिक रसूख से अब तक बेदीराम बचता रहा है।

सीएम ने राजभर को किया तलब: पेपर लीक मामले में यूपी सरकार की काफी किरकिरी हो चुकी है। ऐसे में सीएम योगी इस पूरे मामले पर बेहद सख्त है। उन्होंने सुभासपा प्रमुख राजभर को इस मामले में तलब किया था जिसके बाद सीएम आवास पर राजभर और सीएम योगी की मुलाकात हुई थीं। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बेदिराम की गिरफ्तारी की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here