डीजीपी, एडीजी कानून व्यवस्था के साथ अधिकारियों ने किया योगाभ्यास

0
1293

लखनऊ। पूरे विश्व में आज दसवें विश्व योग दिवस के मौके पर करोड़ों की संख्या में आम लोग भी योग का हिस्सा बनें। भारत की वैश्विक पहचान योग करते हुए आज हर कोई नजर आया और हर कोई सुबह योगासन की मुद्रा में था। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार के साथ एडीजी कानून व्यवस्था व एसटीएफ चीफ अमिताभ यश ने भी पुलिस मुख्यालय में अपने सहकर्मियों के साथ योग किया। यूं तो डीजीपी प्रशांत कुमार प्रतिदिन योग करते हैं। लेकिन आज का दिन विशेष है क्योंकि भारत की संस्कृति विरासत योग को वैश्विक स्तर पर पहचान मिलने का ये दसवां वर्ष है। इस मौके पर डीजीपी प्रशांत कुमार ने सहकर्मियों के साथ पुलिस मुख्यालय में योग किया। डीजीपी प्रशांत कुमार अलग-अलग योग मुद्राओं में नजर आए। यूं तो डीजीपी प्रशांत कुमार प्रतिदिन योग करते हैं। लेकिन आज का दिन विशेष है क्योंकि भारत की संस्कृति विरासत योग को वैश्विक स्तर पर पहचान मिलने का ये दसवां वर्ष है। इस मौके पर डीजीपी प्रशांत कुमार ने सहकर्मियों के साथ पुलिस मुख्यालय में योग किया।

योग मुद्राओं में नजर आए डीजीपी प्रशांत कुमार

डीजीपी प्रशांत कुमार अलग-अलग योग मुद्राओं में नजर आए। यूं तो अपराध नियंत्रण में महारथ रखने वाले डीजीपी प्रशांत कुमार का यूपी की प्रशासनिक व्यवस्था में बड़ा नाम है। लेकिन डीजीपी प्रशांत कुमार भी भारत की वैश्विक पहचान योग की मुद्रा में नजर आए और उन्होंने अपने सहकर्मियों के साथ पुलिस मुख्यालय में योग करते हुए अलग-अलग योगासन किए। योग दिवस के मौके पर उत्तर प्रदेश के पुलिस मुखिया प्रशांत कुमार ने कहा शरीर को स्वस्थ रखने के लिए और मन को प्रसन्न रखने के लिए योग बेहद जरूरी है। डीजीपी प्रशांत कुमार ने कहा योग से आत्मा को शांति मिलती है और हम निरोग रह सकते हैं। योग हमारी पुरातन पद्धति का हिस्सा है भारत आज पूरे विश्व में योग दिवस का सबसे बड़ा ब्रांड एंबेसडर है। समाज को योग के क्षेत्र में सक्रिय होना होगा क्योंकि अगर हम स्वस्थ भारत और स्वस्थ उत्तर प्रदेश की कल्पना करते हैं तो योग बेहद जरूरी है।

योग करते एसटीएफ चीफ अमिताभ यश

वहीं दूसरी ओर एडीजी ला एंड ऑर्डर व एसटीएफ के चीफ अमिताभ यश ने कहा युवाओं को भी योग में रुचि लेनी चाहिए। शरीर को फिट और तंदुरुस्त रखने के लिए योग एक बेहतर विकल्प है। योग करने से हम पूरे दिन रिफ्रेश रहते हैं और अपने कार्यों को प्रसन्नचित मुद्रा में संपन्न करते हैं। शरीर को फिट रखने के लिए योग एक बेहतर विधा है। यह हमारी प्राचीन विधा है इसके लिए हमें समर्पित होना होगा। इस दौरान डीजीपी प्रशांत कुमार व एसटीएफ चीफ के अमिताभ यश ने योग के अनेकों फायदे गिरते हुए अपने सहकर्मियों के साथ पुलिस मुख्यालय में योग किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here