अटेंशन : कांग्रेस के किलों पर बीजेपी की नजर

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में 200 के पार जाने के लिए बीजेपी ने ‘मिशन 103’ पर काम शुरू कर दिया है…ये वे सीटें हैं, जिन पर लंबे समय से कांग्रेस का कब्जा है.इनमें से 36 सीटें ऐसी हैं, जहां कांग्रेस के दिग्गज काबिज हैं.

ALSO READ देखिये किस म्यूजियम में रखा गया है दुनिया का सबसे बड़ा खजाना

इन सीटों पर जीत हासिल करना भाजपा के लिए चुनौती है…भाजपा ने इन्हें ‘आकांक्षी विधानसभा’ नाम दिया है…यहाँ जीत के लिए भाजपा गुजरात और उत्तरप्रदेश फॉर्मूला अपनाएगी…इनमें से अधिकांश सीटें आरक्षित वर्ग से आती हैं… इन सीटों में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का गढ़ छिंदवाड़ा….नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह की लहार…. दिग्विजय के बेटे जयवर्धन सिंह की राघौगढ़…. सुभाष यादव के बेटे सचिन यादव की कसरावद…और आरिफ अकील की भोपाल उत्तर जैसी सीटें शामिल हैं.

इन सीटों पर जीतना आसान नहीं है….इसलिए केंद्रीय नेतृत्व मॉनिटरिंग कर रहा है…वहीं अर्द्ध पन्ना प्रभारी, बूथ कमेटियों को भी अहम जिम्मेदारी दी गयी है…क्या इन सीटों पर भाजपा लगातार हार का सिलसिला तोड़ पायेगी…और कांग्रेस अपने मज़बूत किलों को सुरक्षित रखने क्या रणनीति अपनायेगी….यह जानने की कोशिश करेंगे….लेकिन पहले देखते हैं यह रिपोर्ट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *