Home national सुकून भरी खबर: अब देश में 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाओं का...

सुकून भरी खबर: अब देश में 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाओं का पलड़ा भारी, 2 पर आया Fertility Rate

11
National News

National News: देश-दुनियाभर की तमाम ताजातरीन खबरों के बीच भारत के लिए पहली बार सुकून भरी खबर सामने आई है जहां पर नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 (NFHS) के आंकड़ों के अनुसार कुल आबादी में 1000 पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 1020 हो गई है। वहीं पर पहली बार देश में प्रजनन दर (Fertility Rate)  2 पर आ गई है।

जानिए क्या कहते है NFHS के आंकड़े

बात करें तो इस बार लड़कों पर लड़कियों की संख्या का इजाफा हुआ है। जहां पर जन्म के समय का लिंगानुपात यानी जेंडर रेश्यो भी सुधरा है। 2015-16 में यह प्रति 1000 बच्चों पर 919 बच्चियों का था। ताजा सर्वे में यह आंकड़ा प्रति 1000 बच्चों पर 929 बच्चियों पर पहुंच गया है। यहां पर शहरों के मुकाबले गांवों में लिंगानुपात बेहतर आया है। आंकड़ों में बताते चलें तो गांवों में प्रति 1000 पुरुषों पर 1037 महिलाएं हैं, जबकि शहरों में 985 महिलाएं ही हैं। इसके अलावा प्रजनन दर की बात करें तो जहां पर 2015-16 में यह 2.2 दर्ज की गई थी वहीं पर यह कम होकर 2 पर आ गई है।

NFHS Data

शिक्षा के मामले में पिछड़ी महिलाएं

बात करें तो आबादी के मामले में महिलाओं ने जहां पर इजाफा किया है वहीं पर शिक्षा के आंकड़ों को लेकर बात करें तो देश में 41% महिलाएं ही ऐसी हैं जिन्हें 10 वर्ष से ज्यादा स्कूली शिक्षा प्राप्त हुई है, जहां वे 10वीं कक्षा से आगे पढ़ सकीं। वहीं 59% महिलाएं 10वीं से आगे नहीं पढ़ पाईं। यहां ग्रामीण इलाकों में आंकड़ों की बात करें तो यहां सिर्फ 33.7% महिलाएं ही 10वीं के आगे पढ़ सकीं। इसके विपरीत अब के आंकड़ों में 78.6% महिलाएं अपना बैंक खाता ऑपरेट करती है जो पहले कम था। वहीं माहवारी के दौरान सुरक्षित सैनिटेशन उपाय अपनाने के मामले में भी बढोत्तरी देखी गई है जहां पर ये 57.6% से बढ़कर 77.3% हो गई हैं। वहीं पर 67.1% बच्चे और 15 से 49 वर्ष की 57% महिलाएं एनीमिया से पीड़ित आज के मामलों में है।